ATM Ka Full Form Kya Hai – In Hindi

हैलो दोस्तों, आज मैंने इस पोस्ट में बात करने वाला हूं ATM क्या है? ATM Ka Full Form Kya Hai और ATM कार्ड कैसे बनाये.

अगर आप ATM के बारे में पूरा डिटेल्स में जानना चाहते है तो इस पोस्ट को अंत तक जरुर पढ़े, इस पोस्ट पढ़ने के बाद ATM के बारे में आपका किसी तरह की सवाल नहीं रहेगा.

ATM Kya Hai – ATM Ka Full Form

ATM एक मशीन है, जब आप बैंक अकाउंट खोलेंगे तब आपको एक क्रेडिट/डेबिट कार्ड दिया जाएगा जिसको आप ATM में जाकर इस्तेमाल कर सकते है.

बहुत सारे लोग क्रेडिट/डेबिट कार्ड को ATM कार्ड कहती है क्योंकि ये ATM पर इस्तेमाल करने के लिए बनाया गया है.

एटीएम आपका बैंक का पैसे को manage करती है. आप एटीएम की मदद से आपका बैंक अकाउंट की बैलेंस चेक कर सकते है, अकाउंट की पैसे निकाल सकते है और बहुत सारे एटीएम पर आप पैसे को जमा भी कर सकते है.

कुछ एटीएम ऐसा भी है जिस पर आप बैंक अकाउंट की पूरा विवरण को प्रिंट करके चेक कर सकते है. जैसे की अकाउंट पर कितने पैसे है, कब कितने पैसे निकाला है, कितने पैसे जमा किया है, आदि.

एटीएम की माध्यम से आप एक अकाउंट से दुसरे अकाउंट पर पैसे को आसानी ट्रान्सफर भी कर सकते है.


ATM Ka Full Form Kya Hai

ATM ka full form

ATM एक शोर्ट शब्द है और ज्यादातर लोग उसका शोर्ट नाम से ही जानते है. पूरा दुनिया में लगभग 60% लोग उसका फुल फॉर्म नहीं जानते है इसलिए इन्टरनेट पर सर्च करते रहते है की ATM Ka Full Form Kya Hai.

ATM Ka Full Form:

Automated Teller Machine

A – Automated

T – Teller

M – Machine

ATM Full Form in Hindi:

स्वचालित टेलर मशीन


ATM का फायदे क्या है – ATM Ka Full Form

एटीएम एक सुरक्षित और सुविदाजनक वस्तु है बैंक खाता की पैसे को मैनेज करने के लिए. एटीएम अविष्कार होने के बाद सभी लोगों की काम बहुत आसान हो गया है.

जब एटीएम नहीं था तब बैंक में जाकर पैसे निकालना बहुत मुश्किल होता था. पैसे निकालने के लिए कागज भरके लाइन में खड़े हो कर पैसे निकालना होता था.

आजका समय 80% लोग पैसे निकालने के लिए एटीएम का ही उपयोग करते है. आने वाले दिनों में लगभग सभी लोग एटीएम का ही इस्तेमाल करेंगे पैसे जमा या निकालने के लिए.

हमारा भारत का लगभग सारे शहर में एटीएम मजूद रहती है और ये 24 घंटे उपयोग करने के लिए सुविदा प्रोवाइड करती है.

लेकिन जो लोग गांव में रहती है उनके लिए एटीएम का उपयोग करना बहुत मुश्किल हो जाती है क्योंकि गांव में एटीएम मजूद नहीं रहती है, इसके लिए गांव की लोगों को शहर में जाकर एटीएम का इस्तेमाल करना होता है.


ATM का अविष्कार किसने की – ATM Ka Full Form

एटीएम का अविष्कार John Shepherd-Barron ने 1967 सन में London में किया था. लेकिन उनका जन्म 23 जून 1925 सन में Shillong शहर में हुआ था, तब इंडिया ब्रिटिश राज में था.

ATM Ka Full Form
Image of John Shepherd-Barron

ATM इस्तेमाल करने की फीस – ATM Ka Full Form

एटीएम इस्तेमाल करने के लिए एटीएम का चार्ज देना होता है. अलग अलग बैंक की अलग अलग चार्ज होता है जो हर साल में ग्राहक की खाता से बैंक ने कट देती है.


ATM कैसे इस्तेमाल करें – ATM Ka Full Form

आजका टाइम लगभग सभी लोग एटीएम का उपयोग कर सकते है. लेकिन जिस लोगों ने पढ़ाई नहीं किये उनके लिए थोड़ा सा मुश्किल हो सकता है.

एटीएम इस्तेमाल करने के लिए सबसे पहले डेबिट/क्रेडिट कार्ड को एटीएम में डालके पिन नंबर को दर्ज करना होता है. उसके बाद भाषा चयन करके किसी भी काम पूरा कर सकते है, जैसे की पैसे निकालना, पैसे जमा करना, पैसे ट्रान्सफर करना, आदि.


ATM कार्ड कैसे बनाये – ATM Ka Full Form

ATM Ka Full Form

अगर आप नई बैंक खाता बनाया है और चाहते है की एटीएम से पैसे निकालना या पैसे को जमा करना तो आपको एक क्रेडिट/डेबिट कार्ड की जरुरत होगी.

एटीएम कार्ड बनाने के लिए सबसे पहले आपको बैंक में जाकर एटीएम कार्ड बनाने की फॉर्म भरके अप्लाई करना होगा. यह फॉर्म आप बैंक अधिकारी से प्राप्त कर सकती है.


1. जरूरी दस्तावेज

जब आप एटीएम कार्ड बनाने के लिए बैंक में जायेंगे तब आपको कुछ जरुरी दस्तावेज साथ में लेकर जाना होगा वर्ना आप एटीएम कार्ड के लिए अप्लाई नहीं कर पाएंगे.

  • बैंक की पासबुक
  • पहचान पत्र की फोटो कॉपी
  • एक फोटो

2. एटीएम कार्ड के लिए फॉर्म भरे

एटीएम कार्ड की आवेदन फॉर्म भरना बहुत ही आसान है. यहां कुछ कॉलम रहती है जिस पर आपका जानकारी और बैंक खाते की जानकारी भरना होगा.

स्टेप #1: सबसे पहले आपका नाम, जन्म तिथि, मोबाइल नंबर, ईमेल id, पता, ये सब भरना होगा.

स्टेप #2: अब बैंक की शाखा, अकाउंट नंबर, खाते का प्रकार जैसे saving या current, आदि चीज भरना होगा.

स्टेप #3: उसके बाद कार्ड की प्रकार चयन करना होगा. जैसे की Master card, Visa card, Rupay card,आदि. जिस कार्ड के लिए आप आवेदन करना चाहते है उस पर tick लगाना होगा.

ये सभी जानकारी फॉर्म पर भरने के बाद आपका जरुरी दस्तावेज साथ में लगा कर बैंक अधिकारी के पास देना होगा.

फॉर्म सबमिट होने की 15-30 दिन के अंदर बैंक ने आपका एटीएम कार्ड को डाक घर की द्वारा आपका घर में भेज देगा. उसके बाद आप बैंक या एटीएम में जाकर पिन नंबर बनाके एटीएम कार्ड को इस्तेमाल कर सकते है.


एटीएम कैसे काम करता है – ATM Ka Full Form

आप तो जान गया है की एटीएम एक मशीन है, इसमें सॉफ्टवेयर डाला हुआ है जो की John Shepherd-Barron ने बनाया था. हालांकि बाद में इस सॉफ्टवेयर का बहुत सारे फंक्शन जुड़ा गया है.

बैंक में अकाउंट बनाने के बाद हर ग्राहक को एक एटीएम कार्ड दिया जाता है, इस कार्ड को लेकर एटीएम में जाकर पैसे निकालना होता है.

जब एटीएम मशीन पर आप एटीएम कार्ड को इन्सर्ट करेंगे तब आपको पिन डालने के लिए बोलेगा, तब आपको पिन डालने होगा.

आपका एटीएम कार्ड के साथ जब पिन मैच हो जाता है तब आपका बैंक अकाउंट के सारे इनफार्मेशन आपको देखा देती है.

इस टाइम के अंदर एटीएम मशीन पर आपका अकाउंट कि सारे कण्ट्रोल आ जाते है, आप चाहे तो पैसे को निकाल सकते है, दुसरे अकाउंट पर पैसे को ट्रान्सफर कर सकते है, इसके अलावा और बहोत सारे काम आप कर सकते है.


एटीएम मशीन के पार्ट्स क्या है – ATM Ka Full Form

एटीएम पर दो प्रकार के पार्ट्स होता है, पहला है Input device और दूसरा है Output device, ये डिवाइस बहुत जरुरी है जिसके मदद से यूजर आसानी से एटीएम को इस्तेमाल कर पाते है.

Input device में 2 प्रकार के पार्ट्स है, और Output device में 4 प्रकार के पार्ट्स मजूद है.

1. Input Device

Card Reader: हमारे एटीएम कार्ड के पीछे एक magnetic strip होते है जिसके अंदर हमारे अकाउंट के सारे जानकारी रहता है. card reader इस magnetic strip को चेक करके बैंक कि सर्वर पर सेंड करता है और अकाउंट के पुरे जानकारी यूजर को प्रदान करता है.

Keypad: एटीएम कि स्क्रीन के नीचे आप कुछ बटन देख सकते है जिसको कीपैड कहा जाता है. इस कीपैड के मदद से आप पिन नंबर, अमाउंट, आदि चीज डाल सकते है.


2. Output Device

Screen: स्क्रीन एटीएम का बहोत जरुरी एक हिस्सा है. स्क्रीन में आपका अकाउंट के सारे जानकारी देखाई देती है. जब आप पिन डालोगे वो भी देखाई देगा, जब आप अमाउंट डालोगे वो भी देखाई देगा. इसके अलावा जितने भी काम आप एटीएम पर करोगे सभी स्क्रीन पर आप देख सकते है.

Speaker: एटीएम पर एक स्पीकर भी मजूद रहती है. जब आप कीपैड में किसी बटन पर प्रेस करोगे तब स्पीकर आवाज देती है जो आप सुनके समझ सकते है. लेकिन बहोत सारे एटीएम पर स्पीकर नहीं रहते.

Cash Dispenser: Cash dispenser पैसे निकालने कि काम करता है. जब आप एटीएम पर आपका अमाउंट डालोगे तब वो पैसे कैलकुलेट करके निकालके देती है.

Printer: प्रिंटर हमारे लेनदेन कि रसीद प्रिंट करके हमें प्रदान करते है. जब आप एटीएम पर बैलेंस इन्क्वायरी करते है या पैसे निकलते है तब प्रिंटर एक रसीद प्रदान करते है.


तो दोस्तों मैंने आपको बताया है की एटीएम क्या है, एटीएम कार्ड कैसे बनाये और ATM Ka Full Form Kya Hai.

इस पोस्ट आपको कैसे लगा जरुर मुझे कमेंट करके बताइए. अगर इस पोस्ट के बारे में आपका कोई भी सुझाब है तो भी मुझे बता सकते है.

मुझे उम्मीद है आप इस पोस्ट पढ़के समझ गया है की ATM Ka Full Form Kya Hota Hai.

इस पोस्ट को Social Media जैसे Facebook, Twitter और WhatsApp की माध्यम से आपका दोस्तों के साथ Share करें.

आजके लिए इतना ही, मिलते है नई एक पोस्ट के साथ.

आपका दिन शुभ हो!     धन्यवाद!

Share this post

5 thoughts on “ATM Ka Full Form Kya Hai – In Hindi”

Leave a Comment