Email Address Kya Hota Hai – In Hindi

हैलो दोस्तों, आज मैंने इस पोस्ट में बात करने वाला हूँ Email Address Kya Hota Hai, Email Ka Full Form Kya Hai और Email ID कैसे बनाते है.

अगर आपको email के बारे ज्यादा जानकारी नहीं है तो इस पोस्ट को पढ़ना आपके लिए बहुत जरुरी है क्योंकि इस पोस्ट में मैंने पूरा डिटेल्स में बताया है कि Email Address Kya Hota Hai.

आजके टाइम email के बारे में सभी लोगों को जानकारी प्राप्त करना चाहिए क्योंकि लगभग सभी लोग आजके के समय smartphone इस्तेमाल करते है जिसको उपयोग करने के लिए email id का बहुत ज्यादा जरुरत पड़ती है.

इसके अलावा अगर आप social media जैसे facebook, twitter, instagram आदि इस्तेमाल करते है तो भी आपको email id का जरुरत होगा.

तो चलिए email के बारे में पूरी डिटेल्स में जानते है…

Email Address Kya Hota Hai

Email Address Kya Hota Hai

Email एक electronic सेवा होता है जिसकी मदद से आप electronic रूप में दुसरे किसी भी लोगों को कुछ ही सेकंड में आसानी से संदेश भेज सकते है.

संदेश के अलावा आप email के माध्यम से दुसरे email यूजर को किसी भी फाइल भेज सकते है.

जैसे पहले जमाना में जब इन्टरनेट नहीं था तब लोग दुसरे किसी को संदेश भेजने के लिए डाक घर के द्वारा पत्र भेजा करता था, लेकिन आजके टाइम किसी लोगों को संदेश भेजने के लिए पत्र के जगह email का इस्तेमाल करते है.

Email इस्तेमाल करने कि सबसे खास बात यह है कि आप दुनिया का एक जगह से दुसरे किसी भी जगह पर संदेश या किसी फाइल मुफ्त में भेज सकते है.

हर email यूजर को अपना अलग अलग एक id होता है जिसको email address भी कहा जाता है.

Email address का id बनाने के लिए email सेवा प्रोवाइडर की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर register करना होता है उसके बाद आपको email id दिया जाएगा जिसको आप लाइफ टाइम के लिए इस्तेमाल कर सकते है.

वैसे तो कई सारे बड़ी बड़ी कंपनी मजूद है जिसने email सेवा प्रोवाइड करती है लेकिन सबसे पोपुलर और अच्छे कंपनी है Gmail, Gmail सबसे पोपुलर और अच्छे होने का मुख्य कारण है इसका मालिक Google, और इस Gmail को Google खुद हैंडल करता है.

अगर आप अपना एक email id बनाना चाहते है तो आप gmail पर ही बनाये क्योंकि gmail पर email id बनाना सबसे आसान होता है.

Email Ka Full Form Kya Hai

अगर आप email के बारे में ज्यादा जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो सबसे पहले आपको Email Ka Full Form जानना बहुत जरुरी है क्योंकि कई बार email का फुल फॉर्म भी पूछा जाता है.

Email Ka Full Form:

Electronic Mail

Email Full Form in Hindi:

इलेक्ट्रॉनिक मेल

Email ID Kaise Banaye

मैंने आपको पहले बताया है की email सेवा प्रोवाइड करने की सबसे पोपुलर email प्रोवाइडर है gmail, जिस पर आप सबसे आसान तरीके से email id बना सकते है.

Gmail के अलावा भी और कई सारे email प्रोवाइडर है जैसे Yahoo mail, ProtonMail, Outlook, Zoho आदि कंपनी की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर आप email id बना सकते है.

लेकिन मैं आपको बताऊंगा की आप gmail पर अपना email id बनाये क्योंकि यह मुफ्त में service प्रोवाइड करती है और इस email id को google की तरफ से सुरक्षित रहती है.

मैंने पहले से ही एक आर्टिकल लिख चूका है gmail पर email id बनाने के बारे में, अगर आप gmail पर email id बनाना चाहते है तो आप Email ID Kaise Banaye यह आर्टिकल जरुर पढ़ें.

ईमेल का इतिहास

अब चलिए email की इतिहास के बारे में जान लेते है जैसे कि email किसने आविष्कार किया है और किस सन में आविष्कार किया है आदि.

Email का आविष्कार 1971 सन में Ray Tomlinson नाम की एक कंप्यूटर प्रोग्रामर ने किया था. इसलिए उनको email का आविष्कारक कहा जाता है.

Ray Tomlinson ने ही सर्वप्रथम “@” चिन्ह को सेलेक्ट करके अपना खुदका कंप्यूटर में एक email भेजा था, उस email में लिखा था “QWERTYUIOP”.

Ray Tomlinson ने सबसे पहले email का आविष्कार करने के बाद 1978 सन में V.A Shiva Ayyadurai कि नाम से एक भारतीय अमेरिकी वैज्ञानिक नई एक email का program तैयार की थी और इसमें inbox, outbox, folders, memo आदि सुविदा थी.

1982 सन कि 30 अगस्त में अमेरिका सरकार की द्वारा आधिकारिक रूप से V.A Shiva Ayyadurai को email का आविष्कारक रूप में मान्यता दिया है.

पहले जमाना में email सिर्फ कंप्यूटर नेटवर्क्स में इस्तेमाल किया जाता था यानि एक जगह पर कनेक्ट किये गयी एक कंप्यूटर से दुसरे कंप्यूटर में email भेजा जाता था.

लेकिन आजके टाइम email भेजने के लिए कंप्यूटर नेटवर्क्स की जगह इन्टरनेट की इस्तेमाल होता है. इन्टरनेट की माध्यम से आप एक जगह से दुनिया का किसी भी जगह पर कुछ ही सेकंड में आसानी से email भेज सकते है.

जब पहले बार email भेजने के लिए इन्टरनेट का उपयोग किया जाता था तब email भेजनेवाला और email प्राप्त करनेवाला दोनों को ऑनलाइन होना पड़ता था.

आजके टाइम email भेजा या email प्राप्त करने के लिए यूजर को ऑनलाइन होने की कई जरुरत नहीं होती क्योंकि आजका email system को store और forward की रूप में बनाया गया है.

जब email भेजनेवाला email भेजते है तब यह email की सर्वर पर store होती है और जब email प्राप्त करने वाला इन्टरनेट कनेक्शन चालू करके email खुलते है तब उस email अपने आप यूजर की डिवाइस पर प्राप्त हो जाती है.

ईमेल के फायदे

आजके समय एक email id होना बहुत ज्यादा जरुरी हो गया है और हर लोगों को इस email का बहुत फायदे भी मिलती है.

खास करके जो लोग इन्टरनेट इस्तेमाल करते है उनके लिए email उपयोग करना सबसे फायदेमंद होता है.

अगर आप email इस्तेमाल करने कि फायदे जानना चाहते है तो आप नीचे जरुर पढ़ें.

1. Email इस्तेमाल करने की सबसे पहला फायदे है आप घर बैठे दुनिया का किसी भी जगह पर दुसरे लोगों को अपना संदेश या किसी फाइल आसानी से भेज सकते है.

2. आप email को फ्री में इस्तेमाल कर सकते है, इसमें किसी तरह की पैसे देने की जरुरत नहीं होते. (कुछ custom email id होता है जिसके लिए कंपनी को पैसे देना होता है)

3. जब आप एक बार email id अपने यूजर नाम से बना लेते है तब उस email id को आप पूरा लाइफ टाइम के लिए इस्तेमाल कर सकते है.

4. किसी को email भेजने के लिए या email प्राप्त करने के लिए इन्टरनेट data का बहुत कम खर्च होती है.

5. हर email यूजर का email id अलग अलग होता है. और हर यूजर का email id का पासवर्ड भी पूरी तरह से अलग होता है.

6. हर लोगों की email id को email सेवा प्रोवाइडर कंपनी की तरफ से अपना privacy policy और security कि हिसाब से सुरक्षित रहती है ताकि हैकर इस email अकाउंट पर access नहीं कर सके.

7. Email id बनाने के बाद आपको unlimited space भी दिया जाएगा, आप अपना मर्जी से किसी तरह फाइल या संदेश दुसरे लोगों को भेज सकते है, इसमें किसी तरह की लिमिट नहीं होते.

8. Email का और एक खास बात यह है कि आप किसी के साथ conversation करने के बाद ये conversation हमेशा के लिए save हो जाती है. अगर आप इस conversation को delete नहीं करते है तो ये email कि सर्वर पर लाइफ टाइम के लिए रह जाती है.

9. जब email सेवा नहीं था तब एक दुसरे को किसी चीज या संदेश भेजने के लिए डाक घर के द्वारा भेजता था जिससे लोगों की टाइम बहुत बर्बाद होता था, लेकिन आजके टाइम email की माध्यम से कुछ ही सेकंड में एक दुसरे को संदेश या किसी फाइल भेज सकते है.

10. Email में आप unlimited और किसी भी चीज के बारे में लिख सकते है, इसमें किसी तरह की word काउंट का लिमिट नहीं है.

ईमेल का नुकसान

वैसे तो email इस्तेमाल करने में यूजर का किसी तरह की नुकसान नहीं होते, लेकिन कुछ ऐसा नुकसान होती है जो यूजर का कई प्रॉब्लम नहीं होते.

आप नीचे ये सारे नुकसान के बारे में पढ़ सकते है.

1. Email इस्तेमाल करने के लिए आपको इन्टरनेट पर निर्भर करना होगा. इन्टरनेट के अलावा आप किसी तरह email को उपयोग नहीं कर सकते है.

2. अगर आप नई email id बनाते है तो सबसे पहले आपको email इस्तेमाल करने के बारे में जानकारी प्राप्त करना होगा. अगर आप email उपयोग करने के बारे जानकारी प्राप्त नहीं करते है तो आपको email भेजने और email प्राप्त करने में बहुत प्रॉब्लम हो सकता है.

3. जब नई email id बनाया जाता है तब कई सारे unknown लोगों से email आना शुरू हो जाता है जिससे बहुत तरह नुकसान हो सकता है.


तो दोस्तों मैंने आपको बताया है की Email Address Kya Hota Hai और इसके साथ यह भी बताया है Email Ka Full Form Kya Hai जो आपको जानना बहुत ही जरुरी था.

इस पोस्ट आपको कैसे लगा जरुर मुझे कमेंट करके बताइए, अगर इस पोस्ट के बारे में आपका कई भी सुझाब है तो भी मुझे बता सकते है.

मुझे उम्मीद है आप इस पोस्ट पढ़के समझ गया है की Email Ka Full Form Kya Hai और Email Address Kya Hota Hai.

इस पोस्ट को Social Media जैसे Facebook, Twitter और WhatsApp के माध्यम से आपका दोस्तों के साथ Share करे.

आजके लिए इतना ही, मिलते है नई एक पोस्ट के साथ.

आपका दिन शुभ हो!     धन्यवाद!

Share this post

Leave a Comment

error: