GST Ka Full Form Kya Hai – In Hindi

हैलो दोस्तों, आज मैंने इस पोस्ट में बात करने वाला हूँ GST क्या है और GST Ka Full Form Kya Hai. पिछली पोस्ट में मैंने आपको बताया है DP Ka Full Form क्या है और उसके पहले की पोस्ट में बताया है Google Ka Full Form क्या है.

मुझे उम्मीद है की मेरी सभी पोस्ट आपको पसंद आ रही है. आज मैंने आपको बताऊंगा की GST Ka Full Form Kya Hai और GST के बारे में बहुत कुछ जानकारी जो आपको जरुर पसंद आएगा.

GST Kya Hai – GST Ka Full Form

GST ka full form

आप सभी लोग जानते है की GST एक Indirect tax है जो बहुत सारे सेवायों और वस्तुयों पर लगाया जाता है.

भारत का संविधान के अनुसार सभी राज्य की राज्य सरकार को वस्तुयों और सेवायों की tax देना होता था और केंद्र सरकार अलग से tax लगाती थी जिसकी कारण tax प्रक्रिया बहुत जटिल हो गया था.

इस जटिल tax प्रक्रिया को सरल बनाने के लिए भारत में GST लागु हुआ है. GST से सभी वस्तुयों और सेवायों पर एक जैसा ही tax लगाया जाएगा, GST लागु होने के पहले किसी भी वस्तुयों पर 30% – 35% tax देना होता था.

कुछ वस्तुयों पर direct और indirect रूप से लगाया जाने वाला tax 50% से भी ज्यादा होता था लेकिन GST लागु होने की बाद यह 28% हो गया है.

पहले भारत में वस्तुयों और सेवायों पर अलग अलग 17 तरह का tax लगाया जाता था लेकिन GST लागु होने की बाद सभी वस्तुयों पर सिर्फ एक ही तरह का tax लगाया जाता है.

GST ग्राहक के द्वारा देना होता है, जब कोई भी लोग दुकान से किसी चीज खरीद करेंगे तब उस सामान के price के साथ gst प्रदान करना होता है.

GST सिर्फ आम ग्राहक के लिए नहीं है, बल्कि जब कोई retailer यानि दुकान का मालिक दुसरे store से wholesale के price से सामान खरीद करते है तब भी उनको gst देना होता है.

हर सामान का gst प्राइस के अनुसार तय किया जाता है. अगर आप कम price का सामान खरीद करते है तो आपको gst का कम पैसे देना होगा, अगर आप महंगा किसी चीज खरीद करते है तो आपको gst के लिए ज्यादा पैसे देना होगा.


GST Ka Full Form Kya Hai

Goods and Services Tax

G – Goods

S – Services  

T – Tax

GST Full Form in Hindi

वस्तु एवं सेवा कर


GST Kab Lagu Hua – GST Ka Full Form

GST ka full form

GST भारत सरकार के द्वारा 1 जुलाई 2017 सन में देश का सभी राज्य पर लागु किया गया था. GST लागु करने कि मुख्य उद्देश्य था टैक्स सेवा को आसान करना.

GST लागु होने के बाद भारत का tax प्रक्रिया बहुत सरल हो गया है, और Indirect tax जैसे service tax की तरह बहुत सारे tax था जो अभी GST में शामिल हो गया है.

भारत में सबसे पहले GST लागु करने वाला राज्य है असम, और सबसे बाद में GST लागु हुआ जम्मू – कश्मीर में.


GST Ke Prakar – GST Ka Full Form

GST प्रक्रिया को आसान करने के लिए भारत सरकार GST को कई प्रकार में डिवाइड कर दिया है.

भारत का हर नागरिक के लिए GST Ke Prakar के बारे में जानकारी प्राप्त करना बहुत जरुरी है.

भारत सरकार जब GST लागु किया था तब इसको चार हिस्सा में डिवाइड किया था gst प्रक्रिया को सरल करने के लिए.

1. CGST

2. SGST

3. IGST

4. UTGST

अब चलिए इन चारों प्रकार gst के बारे में डिटेल्स में जानते है.

1. CGST

CGST का फुल फॉर्म होता है Central goods and service tax. यह केंद्र सरकार के लिए है, केंद्र सरकार CGST के नियम अनुसार सामान और सेवाएं के gst लगाते है.

2. SGST

SGST का फुल फॉर्म होता है State goods and service tax. यह tax प्रक्रिया राज्य सरकार के नियंत्रण में है, भारत का हर राज्य सरकार SGST के नियम अनुसार सामान और सेवाएं के लिए gst लगाते है.

3. IGST

IGST का फुल फॉर्म होता है Integrated goods and service tax. यह ऐसा एक tax प्रक्रिया है जिसका नियंत्रण केंद्र और राज्य सरकार दोनों के हाथ में होता है. इस प्रकार का tax केंद्र सरकार और राज्य सरकार दोनों को मिलता है.

4. UTGST

UTGST का फुल फॉर्म होता है Union territory goods and service tax. भारत में जितने भी केंद्र शासित प्रदेश है उनके लिए UTGST लागु किये गया है. UTGST के नियम अनुसार केंद्र शासित प्रदेश कि सभी ग्राहक सामान के tax सरकार को देना होता है.


GST लागु होने की फायदे – GST Ka Full Form

  • भारत में GST लागु होने पर कर व्यवस्था सरल हो गया है, पहले वस्तुयों पर राज्य सरकार tax लगाती थी और केंद्र सरकार भी tax लगाती थी लेकिन GST लागु होने पर सभी tax एक जैसे GST की माध्यम से हो जाती है.
  • GST लागु होने पर देश की आम लोगो की बहुत ज्यादा फायदे होगा क्यूंकि सभी वस्तुयों को खरीदने में आपको समान tax देना होगा.
  • पहले अलग अलग वस्तुयों पर 30% – 35% तक का tax चुकाने पड़ता ता, लेकिन GST लागु होने पर आपको सिर्फ 18% tax देना होगा.

GST लागु होने की नुकसान – GST Ka Full Form

  • भारत में GST लागु होने की बाद electronic वस्तुयों जैसे Mobile, Computer, TV, Fridge आदि सामान का price बड़ गया है. पहले इन समानो पर 23% से 25% तक का tax लगता था लेकिन GST की कारण यह tax अभी 28% तक हो गया है.
  • अगर आप नया building या घर खरीदते है तो उसमे 8% तक का price बड़ सकते है.
  • GST के कारण दवाई, सफ़र, होटल में खाना, इन सभी पर price बड़ गयी है.
  • GST लागु होने की कारण direct tax कम हो गयी और indirect tax ज्यादा हो गया है.

तो दोस्तों मैंने आपको बताया है की GST Ka Full Form Kya Hai, और GST के बारे में बहुत कुछ जानकारी जो आपको जानना बहुत ही जरुरी था.

इस पोस्ट आपको कैसे लगा जरुर मुझे कमेंट करके बताइए, अगर इस पोस्ट के बारे में आपका कोई भी सुझाब है तो भी मुझे बता सकते है.

मुझे उम्मीद है आप इस पोस्ट पढ़के समझ गया है की GST क्या है और GST Ka Full Form Kya Hota Hai.

इस पोस्ट को Social Media जैसे Facebook, Twitter और WhatsApp के माध्यम से आपका दोस्तों के साथ Share कीजिए.

आजके लिए इतना ही, मिलते है नई एक पोस्ट के साथ.

आपका दिन शुभ हो!     धन्यवाद!

Share this post

6 thoughts on “GST Ka Full Form Kya Hai – In Hindi”

Leave a Comment