Khoon Saaf Karne Ke Upay

इस आर्टिकल में मैंने आपको बताऊंगा की Khoon Saaf Karne Ke Upay. अगर आप खून साफ करने के उपाय के बारे में जानना चाहते है तो इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें।

खून साफ करने का बहोत सारे उपाय मजूद है, आप अपने हिसाब से किसी भी उपाय को अपनाके खून साफ कर सकते है।

Khoon Saaf Karne Ke Upay

अगर आप खून साफ करने के बारे में जानना चाहते है तो नीचे दिए गयी वीडियो देख सकते है।


मुझे उम्मीद है आप उपर दिए गयी वीडियो देखके जान गयी है की Khoon Saaf Karne Ke Upay.


Khoon Saaf Karne Ke Upay (Text)

शरीर के समुचित कार्य के लिए रक्त की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण है। ऑक्सीजन और पोषक तत्वों को शरीर के सभी अंगों तक पहुंचाने से लेकर बीमारियों से शरीर की रक्षा करने तक स्वच्छ रक्त का संचार आवश्यक है।

यदि किसी कारण से रक्त दूषित हो जाता है तो स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं उत्पन्न होने लगती हैं। हालांकि, घरेलू उपचार की मदद से खून को शुद्ध किया जा सकता है।

ब्लू बैरीज़

ब्लूबेरी एंटीऑक्सिडेंट का एक भंडार है जो लीवर को नुकसान से बचाने और रक्त को शुद्ध करने में मदद करता है। एक अध्ययन के अनुसार ब्लूबेरी लीवर को स्वस्थ रखने में मदद कर सकती है। आपको अपने नाश्ते में ब्लूबेरी का सेवन करना चाहिए। आप इसे अपने दही, दलिया या स्मूदी में मिला सकते हैं।


सब्जियों से बनाएं स्मूदी

ऐसी कई सब्जियां हैं जिनके वैज्ञानिक प्रयोगों से पता चला है कि इन सब्जियों में खून साफ ​​करने के गुण होते हैं। हरी सब्जियां जैसे पालक, चुकंदर, लहसुन, अदरक, ब्रोकली आपके खून को साफ करती हैं। आप इन सब्जियों को उबाल कर खा सकते हैं या फिर इन्हें मिलाकर स्मूदी भी बना सकते हैं. स्मूदी बनाने के लिए सभी सब्जियां कम मात्रा में लें, अब आधा गिलास पानी डालकर मिक्सी में पीस लें. अगर आपको पिने का स्वाद पसंद नहीं है, तो आप इसमें थोड़ा सा काला नमक और नींबू भी मिला सकते हैं। खून साफ ​​करने के लिए लाजवाब ड्रिंक तैयार है.


पानी पिए

खून को शुद्ध करने के लिए पानी पीना बहुत जरूरी है। ऐसा इसलिए है क्योंकि आपका रक्त तरल पदार्थों से बना होता है और इसके विषहरण के लिए इसे बहुत अधिक पानी की आवश्यकता होती है। अगर आपके शरीर में पानी की कमी है तो यह रक्त के शुद्धिकरण में रुकावट पैदा करेगा। साथ ही, डिहाइड्रेशन आपके खून की गुणवत्ता को खराब और दूषित करता है। इसलिए अगर आप अपने खून को साफ रखना चाहते हैं तो दिन भर में ज्यादा से ज्यादा पानी पिए।


सौंफ का प्रयोग

सौंफ घर में रोजाना इस्तेमाल होने वाले मसालों में से एक है। इसका नियमित सेवन सेहत के लिए फायदेमंद होता है।

सौंफ और मिश्री को बराबर मात्रा में लेकर पीस लें। इसकी एक चम्मच सुबह-शाम पानी के साथ दो महीने तक लें। इससे आंखों की कमजोरी दूर होती है और आंखों की रोशनी बढ़ती है।

सौंफ का रस दस ग्राम शहद में मिलाकर सेवन करें। खांसी में तुरंत आराम मिलेगा।

10 ग्राम बेल का गूदा और 5 ग्राम सौंफ को सुबह-शाम चबाकर खाने से अपच और अतिसार में लाभ होता है।

अगर आपको पेट में दर्द है तो भुनी हुई सौंफ को चबाकर खाएं, आपको तुरंत आराम मिलेगा। सौंफ को ठंडा करके पी लें, इससे आंच ठंडी हो जाएगी और जी मिचलाना बंद हो जाएगा।

हाथ पैरों में जलन की शिकायत हो तो धनिये के चूर्ण को बराबर मात्रा में सौंफ और मिश्री में मिलाकर भोजन करने के बाद 5-6 ग्राम की मात्रा में सेवन करने से कुछ ही दिनों में आराम मिलता है।


ताजा फल

सेब, आलूबुखारा, नाशपाती और अमरूद में पेक्टिन फाइबर पाया जाता है। यह खून को साफ रखने में उपयोगी है।

फल रक्त में अतिरिक्त वसा के साथ हानिकारक रसायनों और विषाक्त पदार्थों को हटाते हैं। इसके अलावा टमाटर में पाया जाने वाला लाइकोपीन खतरनाक केमिकल ग्लूटाथियोन को भी खत्म करता है।

इसलिए अपनी डाइट में स्ट्रॉबेरी, ब्लैकबेरी और क्रैनबेरी जैसे फलों का सेवन करना भी अच्छा होता है, जो लीवर को भी स्वस्थ रखते हैं।


तुलसी

तुलसी के पत्तों में एंटीबायोटिक गुण होते हैं। विशेषज्ञ इसे रक्त को शुद्ध करने के लिए एक बहुत ही उपयोगी औषधि के रूप में जानते हैं। यह शरीर से खून में मौजूद विषाक्त पदार्थों को निकाल कर खून को साफ करने में काफी फायदेमंद होता है। इसके लिए तुलसी के पत्तों को पानी में उबालकर सेवन करने से लाभ होता है।


नींबू

नींबू का रस खून और पाचन तंत्र को साफ कर सकता है। यह अम्लीय है और पीएच स्तर में परिवर्तन का कारण बन सकता है। यह रक्त से विषाक्त पदार्थों को साफ करने में उपयोगी है। रोज सुबह खाली पेट नींबू पानी पीने से शरीर से विषाक्त पदार्थ साफ हो जाते हैं।


क्रैनबेरी

क्रैनबेरी यूटीआई के इलाज के लिए जाना जाता है। यह यूरिनरी ट्रैक्ट से बैक्टीरिया को खत्म करने और किडनी को स्वस्थ रखने में मदद करता है। इस फल का लाभ उठाने के लिए आपको इसे दलिया, स्मूदी या सलाद के रूप में खाना चाहिए।


धनिया और पुदीना

हर सब्जी में पाया जाने वाला हरा धनिया कितना फायदेमंद होता है ये जानकर हैरानी होगी. हरा धनिया खून को साफ करने के लिए भी बहुत जरूरी है। 

इसके अलावा पुदीना पेट संबंधी बीमारियों में भी फायदेमंद होता है। धनिया पुदीना का इस्तेमाल ज्यादातर घरों में रोजाना किया जाता है। 

लेकिन अगर आप खून साफ ​​करना चाहते हैं तो धनिया और पुदीने की पत्तियों की चाय बनाकर पीएं। इसके लिए आप एक बर्तन में 1 गिलास पानी लें, कुछ पुदीने के पत्ते और धनिया पत्ती को अच्छी तरह धोकर उसमें डाल दें. अब इसे 10 मिनट तक उबलने दें। बाद में पानी को छानकर गुनगुनी चाय की तरह पी लें।


हल्दी

हल्दी में पाया जाने वाला करक्यूमिन नामक यौगिक सूजन और शरीर की अन्य समस्याओं से लड़ सकता है। हल्दी लाल रक्त कोशिकाओं को उत्पन्न करने में भी मदद करती है और समय-समय पर उन्हें डिटॉक्सीफाई करती है। हल्दी एक उत्कृष्ट रक्त शोधक है जो रक्त को डिटॉक्सीफाई करती है।


 गुड़

भारतीय घरों में गुड़ का इस्तेमाल बड़े पैमाने पर किया जाता है। यह एक प्राकृतिक रक्त शोधक के रूप में जाना जाता है। बिना रिफाइंड चीनी में फाइबर होता है, जो पाचन तंत्र को साफ करने में मदद करता है। गुड़ में मौजूद आयरन की मात्रा हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाने में मदद करती है।


Related Searches:

ब्लड साफ करने की दवा

खून साफ करने के लिए क्या खाना चाहिए

खून खराब होने के लक्षण

ब्लड साफ करने की आयुर्वेदिक दवा

खून साफ करने का तरीका


Share this post

Leave a Comment