Software Kya Hota Hai – In Hindi

हैलो दोस्तों, आज मैंने इस पोस्ट में बात करने वाला हूं Software Kya Hai. पिछली पोस्ट में बात किया है Internet Kya Hai और उसकी पहले की पोस्ट में बताया है Twitter account कैसे बनाए.

मुझे उम्मीद है की मेरी सभी पोस्ट आपको पसंद आ रही है. आज का पोस्ट Software Kya Hota Hai उसकी बारे में जो आपको जरुर पसंद आएगा.

अगर आप एक कंप्यूटर या मोबाइल इस्तेमाल करते है तो आपको software के बारे बताने की जरुरत नहीं है, क्यूंकि कंप्यूटर और मोबाइल software की मदद से ही चलते है.

इंटरनेट पर बहुत सारे software है जिसका काम अलग अलग होता है. लोगो की जरुरत की मुताबिक software इंटरनेट से download या दुकान से खरीद कर सकते है.

Software ऐसा एक चीज है जिसका सिर्फ काम आप देख सकते है, लेकिन इसमें किसी तरह की feeling या touch नहीं किया जाता है.

मोबाइल या कंप्यूटर में software इस्तेमाल करने के लिए आपको पहले software को install करना पड़ता है उसके बाद आप उपयोग कर सकते है.

Software Kya Hota Hai

Software Kya Hota Hai

हमारे कंप्यूटर पर किसी काम करने के लिए दो तरह की software की जरुरत पड़ सकता है, एक है desktop sofware और दूसरा है web software. मैं आपको इन दोनों software के बारे में बताऊंगा जो आप पढ़के समझ पाएंगे.

1. Desktop Software Kya Hai

Desktop software पर काम करने के लिए किसी प्रकार की इंटरनेट की जरुरत नहीं पड़ती है. आप यहां ऑफलाइन काम कर सकते है, जैसे MS word, MS excel, power point, आदि.

इसके अलावा बहुत सारे softwares है जिसको इंटरनेट से download या दुकान से खरीद करके कंप्यूटर में install करना पड़ता है.

Data entry और commercial काम करने के लिए desktop software की ज्यादा जरुरत पड़ती है.

बड़ा बड़ा कंपनी में ज्यादातर इसी softwares की जरुरत पड़ती है, क्यूंकि यहाँ customer या employee की बहुत प्रकार की data राखना पड़ता है. जैसे नाम, पता, आदि चीज की जानकारी.

Desktop software को बनाने के लिए programming language सीखना पड़ता है. अलग अलग software में अलग अलग language की उपयोग होती है. जैसे C, C++, Java, आदि language की जरुरत पड़ती है.

इस तरह software को आम लोग कभी भी नहीं बना पाएंगे, software को बनाने के लिए software engineer की जरुरत पड़ती है.

2. Web Software Kya Hai

अब चलिए बताते है की web software की बारे में. इस प्रकार software को इस्तेमाल करने के लिए इंटरनेट की जरुरत पड़ती है.

आजका समय हमारे ज्यादातर काम ऑनलाइन करना पड़ता है. जब इंटरनेट नहीं था तब सभी काम ऑफलाइन करना पड़ता था, लेकिन इंटरनेट आने के बाद सभी काम ऑनलाइन हो गयी है.

इंटरनेट आने की बाद बहुत सारे web software को बनाया गया है. हर software की अलग अलग काम होती है. जैसे voter id verify या voter लिस्ट में नाम लगाने के लिए भारत सरकार ने NVSP site को बनाया है.

इसके अलावा बहुत सारे काम जैसे railway ticket, flight ticket, ऑनलाइन नौकरी के लिए apply, aadhar card apply, आदि.

ऑनलाइन shopping के लिए Amazon, Flipkart, Snapdeal, ऐसे बहुत सारे site है जिसको web software कहा जाता है.

आपकी मन में यह सवाल आ सकता है की इन site को तो website भी कहती है. अगर मैं आपको सरल भाषा में बताऊ तो जिस website की काम ऑफलाइन काम के साथ सम्पर्क रहती है इसको web software कहा जाता है.

जैसे हम flight की ticket ऑनलाइन बुक करते है तो इस ticket को print करके निकलना होता है, या फिर railway का ticket बुक करने में ऐसा ही होती है.

इसके अलावा अगर आप ऑनलाइन shopping करते है Amazon या Flipkart से तो यहाँ पे भी आपका सामान ऑफलाइन के माध्यम से आपका पास आता है.

Web software को बनाने के लिए web developement सीखना पड़ेगा. Web developement के लिए आपको बहुत सारे programming language सीखने होगा, जैसे HTML, CSS, Javascript, PHP, Python, आदि.

अगर आप एक web developer बनना चाहते है तो आपको ये सब language सीखना पड़ेगा जहा 2 से 3 साल लग जाता है.

Programming Language Ki Jankari

Software Kya Hai

ये एक ऐसा language है जिसको कंप्यूटर आसानी से समझ लेता है. इस language को हर लोग नहीं समझ पाते क्यूंकि ये बहुत कठिन languages होता है.

इसमें बहुत सारे Functions, Rules और Keywords रहती है. ये सब चीज फॉलो करके program लिखना पड़ता है.

Program लिखने के समय अगर एक भी word या character छोड़ जाती है तो पूरा program भी गलत देखाती है.

Desktop software हो या web software हो, सभी software को बनाने में बहुत ज्यादा मेहनत और समय लग जाती है.

Type of Software

मैंने आपको पहले बता दिया है की software दो तरीके का होता है, एक है desktop software और दूसरा है web software.

अब मैं आपको बताऊंगा की कंप्यूटर में दो प्रकार का software होती है, एक है System software और दूसरा है Application software.

1. System Software Kya Hai

यह एक ऐसा software है जो कंप्यूटर की hardware को operate करती है. यह कंप्यूटर की hardware और software की बीच में काम करता है.

अब चलिए जानते है की System Software के बारे में.

A. Operating System

कंप्यूटर में सबसे important जो चीज होता है वो operating system जिसको छोटा शब्द में OS कहा जाता है. OS को कंप्यूटर की दिमाग कहा जाता है, क्यूंकि इसके बिना कंप्यूटर काम नहीं कर सकते है.

OS की मदद से हम सभी program पर काम कर पाते, यह user और program की बिच में काम करता है. इसकी मदद से कंप्यूटर हमारे command को समझते है.

B. Language Translator

कंप्यूटर में कुछ Translator होती है जो कंप्यूटर की high level और low level language को मशीन language में translate करने की काम करता है.

कंप्यूटर में Interpreter, Compiler और Assambler, ये translator ने कंप्यूटर की language को translate करती है.

C. Utilities

Utilities एक program होती है जो कंप्यूटर की optimization, maintain और configuration करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है.

इसको कंप्यूटर की service program भी कहा जाता है. यह कंप्यूटर की direct task को perform करती है जिससे user को सहायता मिलती है.

कंप्यूटर में बहुत सारे Utilities program है, जैसे की Disk checkers, Anti virus, Screen savers, आदि. ये कंप्यूटर को इस्तेमाल करने में user को बहुत ज्यादा हेल्प करती है.

D. Device Drivers

Driver एक बहुत important program होता है, यह कंप्यूटर की input और output को जुड़ने की काम करता है. कंप्यूटर की OS भी drivers के बिना किसी भी hardware को support नहीं कर पाते.

2. Application Software Kya Hai

कंप्यूटर में हमारा जितने भी काम होती है यह सभी Application software के माध्यम से ही होती है. हमारे मोबाइल में जितने भी Application software होती है इन सभी को Apps कहा जाता है.

System software कंप्यूटर की background में काम करते है जिससे हम Application software पर काम कर सके.

Application software चलने के लिए system software की जरुरत पड़ती है. बिना system software से हम कभी भी application software इस्तेमाल नहीं कर सकते.

अगर मैं आपको आसान तरीका से बताऊ तो हम जिस software पर काम करता हो इसको application software कहा जाता है. उदाहरण के लिए नीचे application software के बारे में बताया गया है.

A. Basic Program

Application software में बेसिक कुछ program होती है जिसको general काम के लिए इस्तेमाल किया जाता है. हर कंप्यूटर user का ये program की बारे में जानना बहुत जरुरी है.

कंप्यूटर में बहुत सारे बेसिक program होती है, जैसे

  • Word Processing Program
  • Spreadsheet Programs
  • Graphics Programs
  • DTP Programs

B. Special Program

हर जगह पे छोटा और बड़ा दो तरह की काम होती है. कंप्यूटर में ऐसा general और special दो प्रकार की काम होती है. नीचे बताया गया कुछ program को special program कहा जाता है.

  • Accounting Programs  
  • Reservation  Programs
  • Billing Programs
  • Medical Report Programs

तो दोस्तों मैंने आपको बताया है की Software Kya Hai और सॉफ्टवेयर कितने प्रकार का है जो आपको जानना बहुत ही जरुरी था.

मेरी इस पोस्ट आपको कैसे लगा जरुर मुझे कमेंट करके बताइए, अगर इस पोस्ट के बारे में आपका कोई भी सुझाब है तो भी मुझे बता सकते है.

मुझे उम्मीद है आप इस पोस्ट पढ़के समझ गया है की Software Kya Hota Hai.

इस पोस्ट को Social Media जैसे Facebook, Twitter और WhatsApp के माध्यम से आपका दोस्तों के साथ Share करें.

आजके लिए इतना ही, मिलते है नई एक पोस्ट के साथ.

आपका दिन शुभ हो!     दन्यवाद!

Share this post

Leave a Comment