Tally Kya Hai – In Hindi (Puri Jankari)

हैलो दोस्तों, आज मैंने इस पोस्ट में बात करने वाला हूं Tally Kya Hai और टैली कैसे सीखे. पिछली पोस्ट में बात किया है MS word Kya Hai और उसकी पहले की पोस्ट में बताया है की Computer Kya Hai.

मुझे उम्मीद है की मेरी सभी पोस्ट आपको पसंद आ रही है. आज का पोस्ट Tally Kya Hai उसकी बारे में जो आपको जरुर पसंद आएगा.

अगर आप कभी किसी कंप्यूटर Institute में कंप्यूटर का किसी भी course करने के लिए गया तो आप यहाँ Tally के नाम जरुर सुना होगा.

Tally एक बहुत ही बड़ा और famous कंप्यूटर का software है जिसको एक छोटा दुकानदार से लेकर बड़ी बड़ी कंपनी भी उपयोग करते है.

इस software को सिर्फ accounting यानि कंपनी या दुकान का हिसाब करने के लिए develope किया गया है.

जब इस Tally software नहीं था तब बड़ी बड़ी हिसाब करने के लिए कैलकुलेटर या कागज़ कलम की मदद से बहुत मुश्किल से किया जाता था.

लेकिन जब Tally कंप्यूटर में आ गया तब से हिसाब के लिए कंपनी इस software का इस्तेमाल शरू कर दिया था, और आज भी इसका उपयोग करते है.

Tally Kya Hai

Tally Kya Hai

Tally एक बहुत ही बड़ा software है accounting के लिए. टैली को develope किया गया है बड़ी बड़ी हिसाब को आसानी से करने के लिए.

पहले की जमाना की बात करी तो business की हिसाब जैसे लाभ, नुकसान और खर्च आदि चीजों के लिए कागज़, कलम और उसके साथ कैलकुलेटर की जरुरत पड़ती थी.

लेकिन जब टैली का उपयोग शुरू हुआ तब से accounting के काम बहुत ही आसान हो गया. जहा कागज़ कलम से हिसाब करने में 1 घंटे लगते थे यहाँ 1 सेकंड में हो जाती है.

इसलिए हर कंपनी accounting के लिए टैली expert को अपने कंपनी में रखती है जिससे वो सारे हिसाब करके कंप्यूटर में रख पाए.

हमारे देश भारत में accounting के लिए सबसे popular software है टैली जिसको tally solutions pvt. ltd. के द्वारा निर्माण किया गयी है.

टैली कंपनी का मुख्यालय भारत का Bengaluru में स्तिथ है. टैली कंपनी ने एक रिपोर्ट निकाला जिस पर देखा गया लगभग 10 लाख से भी ज्यादा लोग इसका इस्तेमाल करते है.

आजके आधुनिक जमाना में सभी प्रकार की business में टैली का इस्तेमाल करते है accounting का काम को आसान करने के लिए.

जब कंप्यूटर में हिसाब की बात आती है तब सबसे पहले टैली का नाम आता है. टैली सिर्फ हमारे भारत में नहीं यह दुनिया का बहुत सारे देशों में एक popular software है accounting के लिए.


Tally Kaise Sikhe – Tally Kya Hai

अगर आप टैली सीखना चाहते है तो आप Institute या ऑनलाइन youtube पर videos देख कर सीख सकते है. लेकिन सबसे बेहतर तरीका है टैली सीखने की वो है किसी Institute पर टैली का course लेकर सीखना.

अगर आप टैली को अच्छे से सीख लेते है तो आप किसी भी छोटा या बड़ा कंपनी में accountant की रूप में नौकरी भी कर सकते है.

आज का समय सारे कंपनी में एक या उससे अधिक accountant का जरुरत पड़ती है, इसलिए हर एक expert accountant की बहुत ही डिमांड रहती है और महीने में अच्छे खासे पैसे भी कंपनी ने देती है.

लेकिन एक बात याद रखे की अगर आप कंपनी में नौकरी करना चाहते है तो आप जरुर किसी Institute में टैली का course करे, क्यूंकि Institute में course करने की बाद आपको एक certificate दिया जाएगा जिससे आपको किसी भी कंपनी ने आपको नौकरी के लिए अनुमति देगा.

यदि आप सिर्फ ऑनलाइन youtube videos देख कर टैली सीखते है तो आप सीख सकते है लेकिन किसी कंपनी में नौकरी पाना मुश्किल हो जाएंगे.

शुरुआत में टैली का course करने में बहुत मुश्किल लगेगा क्यूंकि यह बहुत ही बड़ा और कठिन software है. अन्य software जैसे ms word, excel, photoshop, आदि बहुत ही आसान होती है.


Tally course कितने दिनों का होती है – Tally Kya Hai

हमारे भारत का ऐसा कोई भी जगह नहीं है जहा कंप्यूटर का Institute नहीं. हर एक छोटा या बड़ा city में एक या उससे अधिक Institute मिल जाती है.

हर कंप्यूटर की Institute पर बहुत प्रकार की course रहती है जो अलग अलग duration की होती है.

अगर आप टैली का course करना चाहते है तो 1 महीने से लेकर 3 महीने की course कर सकते है. लेकिन मैं आपको बताऊंगा आप जरुर 3 महीने की course पर एडमिशन लीजिए.

टैली course करने के लिए हर Institute का अलग अलग fees होती है. यह निर्भर करता है आप किस स्थान पर रहती है उस हिसाब से Institute का मालिक आपको चार्ज करेंगे.


Tally का इतिहास – Tally Kya Hai

Tally का आविष्कार Shyam Sundar Goenka और उनके बेटा Bharat Goenka ने 1986 में किया था.

Shyam Sunder Goenka

जब श्याम सुन्दर गोयनका एक कंपनी चलाते थे तब उनका कंपनी के accounting के लिए कंप्यूटर में किसी तरह software नहीं था, उन्होंने मुश्किल से कंपनी का हिसाब करते थे.

एक दिन श्याम सुन्दर गोयनका ने अपने बेटे भारत गोयनका को कहा की बेटे एक ऐसा software बनाओ जिससे हम अपने कंपनी का accounting आसानी से कर पाए.

भारत गोयनका एक software engineer और गणित में ग्रेजुएट थे, इन्होंने पहले MS DOS की रूप में एक software develope किया था जिस पर बेसिक accounting किया जाता था.

इस software को बनाने के बाद इसका नाम Peutronics नाम से जाना जाता था, उसके बाद 1988 सन में उसका नाम बदल के Tally रखा गया है.

उसके बाद धीरे धीरे टैली का डिजाईन और functions को develope किया गया है, और 2006 सन में टैली का दो version बन गया है जिसको Tally 8.1 और Tally 9 के नाम से जाना जाता है.

सन 2009 में टैली कंपनी ने Tally ERP 9 के नाम से एक “business management solution” रिलीज़ किया है.

2017 सन में कंपनी ने टैली software को GST के साथ अपडेट करके नया software रिलीज़ किया है.

आजका समय अगर आप टैली course करेंगे तो इस के अंदर GST भी रहती है जिसको आप सीखना बहुत जरुरी है.

GST के हिसाब को आप अच्छे से सीखना है जिससे आप किसी दुकान या कंपनी में GST के साथ हिसाब कर पाए. इसलिए जब आप कंप्यूटर Institute में जाएंगे तो अच्छे सा Institute में जाए.


Tally course करने की फायदे – Tally Kya Hai

अगर आप टैली course कर लेते है तो बहुत तरह की फायदे आप हासिल कर सकते है. चलिए जानते है की यह course पूरा करने की बाद क्या क्या फायदे होती है.

  • जब आप टैली का course पूरा कर लेते है तब आप किसी भी कंपनी में जाकर नौकरी कर सकते है.
  • इस course करने की बाद आप computerized accounting की जानकारी हासिल कर लेते है.
  • अगर आपका अपना business है तो आप खुद ने business की accounting कर सकते है.
  • आप private कंपनी की अलावा सरकारी नौकरी भी कर सकते है.
  • अगर आप कॉमर्स ग्रेजुएट पूरा कर लेते है और उसके साथ टैली भी सीख लेते है तो आप बैंक में भी नौकरी कर सकते है.


{Next Article About Tally}

टैली का काम आजकल हर जगह आता है, लेकिन कई लोग ऐसे भी हैं जिन्होंने अभी भी नहीं पता है कि टैली क्या है और इसके क्या यूज़ हैं।

जब भी हम किसी Tally Software Computer Institute या Tally Academy में जाते हैं तो उसे सीखने के लिए हमारा उत्साह बढ़ जाता है और हम जल्दबाजी में सीखना शुरू कर देते हैं और फिर समझ में न आने पर उसे अधूरा छोड़ देते हैं क्योंकि हमें इसके बारे में पूरी तरह से नहीं पता रहता है।

यह एक ऐसा सॉफ्टवेयर है, जिसे सीखकर कोई भी आसानी से किसी भी कंपनी में अच्छी नौकरी पा सकता है और अगर इसे ठीक से पढ़ाया जाए तो यह बहुत आसान है और कोई भी इसे सीख सकता है।

आज इस लेख में हम केवल टैली से संबंधित जानकारी देने जा रहे हैं, बस हमारे लेख को पूरा पढ़ें। मैं वादा करता हूं कि हमारे इस लेख को पढ़ने के बाद आपके मन में टैली से जुड़े सभी सवालों के जवाब मिल जाएंगे।

Tally Kya Hai

टैली एक भारतीय बहुराष्ट्रीय कंपनी टैली सॉल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड द्वारा बनाया गया दुनिया का लोकप्रिय अकाउंटिंग सॉफ्टवेयर है, इसका उपयोग किसी भी फर्म या कंपनी के खातों को बनाए रखने के लिए किया जाता है।

कंपनी के बिजनेस अकाउंट को सही रखने के लिए अकाउंटिंग सॉफ्टवेयर की जरूरत होती है क्योंकि अब इस डिजिटल युग में कोई भी काम हाथ से नहीं किया जाता है, सारा काम कंप्यूटर की मदद से किया जा रहा है और इस काम के लिए टैली सॉफ्टवेयर सबसे अच्छा है।

आज टैली सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि दुनिया के कई देशों में किया जाता है। टैली सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि दुनिया के लगभग 100 देशों में छोटे और छोटे उद्योगों में इस्तेमाल होने वाला एक अकाउंटिंग सॉफ्टवेयर है। 


टैली का फुल फॉर्म – Tally Kya Hai

टैली का पूर्ण रूप “Transactions Allowed in a Linear Line Yards” है जिसे हम अपनी भाषा में ‘ट्रांसक्शन्स एलाउड इन ए लीनियर लाइन यार्ड्स’ के रूप में जानते हैं।

कंपनी टैली अकाउंटिंग में रिकॉर्ड तैयार रखते हुए उन सभी कार्यों के लिए अपने बिजनेस डेटा को सुरक्षित सॉफ्टवेयर में रखती है, इस काम को टैली कहा जाता है।


टैली का निर्माण – Tally Kya Hai

टैली का निर्माण टैली सॉल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड के द्वारा बनाया गया है। यह एक भारतीय कंपनी है जिसका दुनिया के 100 देशों में कारोबार है और दुनिया भर में इसके लगभग 28000 सेलिंग पार्टनर हैं और इस कंपनी की स्थापना 1986 में भारतीय व्यवसायी श्री श्याम सुंदर गोयनका और उनके बेटे भारत गोयनका ने की थी। जिन्हें आज टैली का जनक भी कहा जाता है.

टैली का हेड ऑफिस बैंगलोर कर्नाटक में है। आज पूरी दुनिया में टैली के लगभग 1.8 मिलियन संतुष्ट ग्राहक हैं।


टैली का इतिहास – Tally Kya Hai

हम सभी जानते हैं कि टैली सॉफ्टवेयर का आविष्कार श्याम सुंदर गोयनका और उनके बेटे भरत गोयनका ने किया था, लेकिन इसके पीछे एक घटना थी जिसके कारण टैली ईआरपी सॉफ्टवेयर बनाया गया था।

टैली के संस्थापक श्री श्याम सुंदर गोयनका एक व्यवसायी हुआ करते थे और उनका कपड़ा मिलों और मशीनरी का व्यवसाय था, जिसके लिए उन्हें लेखा-जोखा रखना बहुत कठिन लगता था। 

इस समस्या को हल करने के लिए उन्होंने अपने बेटे मिस्टर भरत गोयनका को एक सॉफ्टवेयर बनाने के लिए कहा, वह एक इंजीनियर थे, उन्होंने शुरू में एक सॉफ्टवेयर बनाया जिसे Peutronics Financial Accountant नाम दिया गया है।

यह एक डॉस बेस सॉफ्टवेयर था, यानी हम इसमें बस अकाउंटिंग कर सकते थे और यह सॉफ्टवेयर उनकी कंपनी के खातों के लिए काफी था।


टैली अकाउंटिंग कोर्स – Tally Kya Hai

टैली कोर्स करने के लिए आपको अपने नजदीकी कंप्यूटर सेंटर या टैली अकादमी में जाना होगा यानी आप अपने नजदीकी कंप्यूटर सेंटर या टैली अकादमी से टैली कोर्स कर सकते हैं और इसे सीख सकते हैं।

किसी भी कंप्यूटर सेंटर से जुड़ने से पहले यह पता कर लें कि वह कंप्यूटर सेंटर सही है या नहीं, इसके लिए आप उस कंप्यूटर सेंटर में पढ़ने वाले बच्चों से पता कर सकते हैं या फिर उस कंप्यूटर सेंटर में डेमो क्लास ज्वाइन कर सकते हैं।

अगर आप टैली का कोर्स टैली एकेडमी से करते हैं तो कोर्स पूरा होने के बाद आपको उसका सर्टिफिकेट भी दिया जाता है।


टैली कोर्स शुल्क – Tally Kya Hai

टैली कोर्स की फीस उस स्थान और कंप्यूटर केंद्र पर निर्भर करती है जहां से आप यह कोर्स कर रहे हैं क्योंकि प्रत्येक कंप्यूटर केंद्र का अपना अलग-अलग हो सकता है।

अगर आप यह कोर्स किसी गांव से कर रहे हैं तो आपकी फीस 5000 रुपये तक हो सकती है और अगर आप किसी शहर से यह कोर्स कर रहे हैं तो आपकी फीस 10000 से 15000 तक हो सकती है।


टैली कोर्स के बाद वेतन – Tally Kya Hai

कई लोगों के मन में यह सवाल होता है कि टैली कोर्स करने के बाद हम कितना कमा सकते हैं यानी टैली कोर्स करने के बाद जब हम कहीं काम करते हैं तो हमारी सैलरी कितनी होती है और हमें कितनी सैलरी दी जाती है.

मैं आपको बता दूं कि टैली कोर्स करने के बाद अगर आप कहीं भी जॉब करते हैं तो आपको लगभग 8000 से 10000 रुपये हर महीने में सैलरी दिया जा सकता है।

इसके अलावा जब आपको काम करने का ज्ञान बढ़ जाता है तो आपको 20000 से 25000 रुपये हर महीने में वेतन मिल सकता है।


टैली कोर्स क्यों करें – Tally Kya Hai

आज का समय टेक्नोलॉजी का है और हर जगह कंप्यूटर से काम हो रहा है। पहले हिसाब-किताब हाथ से लिखा जाता था, जिसमें बहुत समय लगता था, लेकिन आज हिसाब-किताब का काम कंप्यूटर की मदद से किया जा रहा है और टैली ने इसे आसान बना दिया है।


टैली को फ्री में कैसे डाउनलोड करें – Tally Kya Hai

आपका मन में यह सवाल जरूर उठ रहा होगा कि आखिर Tally Erp 9 Software Free Download कैसे कर सकते हैं और इसे फ्री में अपने कंप्यूटर में कैसे इनस्टॉल कर सकते हैं तो मैं आपको बता दूं कि टैली कोई फ्री सॉफ्टवेयर नहीं है, इसको पैसे द्वारा ख़रीदा जा सकता है।

अगर किसी के पास फ्री टैली सॉफ्टवेयर नहीं है तो वह टैली Erp 9 क्रैक वर्जन डाउनलोड है जो कानूनन गलत है।

लेकिन अगर आप टैली सीखना चाहते हैं और अगर आप टैली Erp 9 सॉफ्टवेयर फ्री में डाउनलोड करना चाहते हैं तो आप इसे गूगल से फ्री में डाउनलोड कर सकते हैं।


तो दोस्तों मैंने आपको बताया है की Tally Kya Hai और टैली कैसे सीखे जो आपको जानना बहुत ही जरुरी था.

मेरी इस पोस्ट आपको कैसे लगा जरुर मुझे कमेंट करके बताइए, अगर इस पोस्ट के बारे में आपका कोई भी सुझाब है तो भी मुझे बता सकते है.

मुझे उम्मीद है आप इस पोस्ट पढ़के समझ गया है की Tally Kya Hota Hai और टैली कैसे सीखे.

इस पोस्ट को Social Media जैसे Facebook, Twitter और WhatsApp के माध्यम से आपका दोस्तों के साथ Share कीजिए.

आज के लिए इतना ही, मिलते है नई एक पोस्ट के साथ.

आपका दिन शुभ हो!     धन्यवाद!

Share this post

3 thoughts on “Tally Kya Hai – In Hindi (Puri Jankari)”

  1. Apne yaha per tally ke bare me bahut hi accha post likha hai. jo bhi beginners hai jo tally ka course karna chahte hai unko bahut help milega

    Reply

Leave a Comment