UPS Ka Full Form Kya Hai – In Hindi

हैलो दोस्तों, आज मैंने इस आर्टिकल में बात करने वाला हूँ UPS Kya Hai और UPS Ka Full Form Kya Hai. इसके अलावा UPS के बारे में कई सारे जानकारी आप इस आर्टिकल के माध्यम से जान सकते है.

अगर आप कंप्यूटर चलाना सीख रही है या पहले से ही आप कंप्यूटर इस्तेमाल कर रही है तो आपको UPS के बारे में पूरा जानकारी प्राप्त करना चाहिए.

वैसे तो जो लोग लैपटॉप इस्तेमाल करते है उनके लिए UPS के बारे में ज्यादा जानकारी की जरुरत नहीं है क्योंकि लैपटॉप में UPS की जरुरत नहीं होती.

UPS की जानकारी सिर्फ उन लोगों के लिए जरुरी है जो लोग कंप्यूटर इस्तेमाल करते है, और जो स्टूडेंट्स कंप्यूटर चलाना सीख रही है उनके लिए भी UPS के बारे जानकारी प्राप्त करना चाहिए.

UPS Kya Hai – UPS Ka Full Form

UPS Ka Full Form Kya Hai

UPS कंप्यूटर के साथ जुड़ा हुआ एक डिवाइस है जो कंप्यूटर को चलाने के लिए पॉवर सप्लाई करता है.

कंप्यूटर चलाने के टाइम जब अचानक से बिजली चल जाते है तब कंप्यूटर को कुछ समय के लिए UPS पॉवर प्रदान करते है ताकि कंप्यूटर में जितने भी प्रोग्राम चल रही है वो सब ठीक से save किया जा सके.

UPS का और एक मुख्य काम है की अगर बिजली का वोल्टेज बढ़ जाते है यानि high voltage हो जाते है तब UPS बिजली का voltage को normal करके कंप्यूटर में सप्लाई करता है ताकि कंप्यूटर का किसी तरह नुकसान न हो.

जब आप कंप्यूटर को चालू करेंगे तब UPS चार्ज होते रहेंगे, और जब अचानक से बिजली चल जाते है तब UPS काम करना शुरू करते है यानि कंप्यूटर को कुछ सीमित समय के लिए पॉवर प्रदान करता है.

एक बाद याद रखे की जब आप कंप्यूटर को चालू करेंगे तब UPS डिवाइस को on करना न भूले क्योंकि अगर आप UPS on नहीं करेंगे तो यह चार्ज नहीं होगा.

UPS मशीन को बहुत टेक्निकली हिसाब से बनाया गया है की जब कंप्यूटर का मुख्य बिजली चल जाते है तब यह अपने आप काम करना शुरू कर देती है यानि कंप्यूटर को बिजली प्रदान करते है और जब बिजली आ जाते है तब यह अपने आप काम करना बंद कर देती है.

UPS की अंदर एक बैटरी होती है और यह बैटरी तब चार्ज होती है जब इसको बिजली के साथ जुड़के on किया जाता है.

UPS मशीन तब तक कंप्यूटर को पॉवर सप्लाई करता है जब तक उसका बैटरी का चार्ज पूरी तरह से ख़त्म नहीं होते.


UPS Ka Full Form Kya Hai

मैंने आपको पहले बता दिया है की जो लोग कंप्यूटर चलाना सीख रही है या पहले से ही कंप्यूटर इस्तेमाल कर रही है उनके लिए UPS के बारे में पूरी ज्ञान होना चाहिए क्योंकि UPS कंप्यूटर को पॉवर सप्लाई करने की मुख्य एक डिवाइस है.

अब चलिए जानते है की UPS Ka Full Form क्या होता है

UPS Ka Full Form:

Uninterruptible Power Supply

U – Uninterruptible

P – Power

S – Supply

UPS Full Form in Hindi:

अबाधित विद्युत आपूर्ति

Read Also: NCC Ka Full Form Kya Hai


Parts of UPS – UPS Ka Full Form

UPS को 4 मुख्य parts दे कर बनाया गया है. उन parts के मदद से UPS हमारे कंप्यूटर को पॉवर सप्लाई करने की काम करता है.

अब चलिए जानते है की वो 4 parts के बारे में पूरा डिटेल्स में.

1. Ractifier

Ractifier UPS का सबसे मुख्य पार्ट है, इस पार्ट की मदद से UPS का बैटरी चार्ज होता है. आप सभी लोग जानते है की बिजली से डायरेक्ट बैटरी चार्ज नहीं किया जाता है क्योंकि बिजली का पॉवर AC होता है और बैटरी का पॉवर DC होता है.

UPS का बैटरी चार्ज करने के लिए ractifier ने बिजली की AC पॉवर को DC पॉवर में कन्वर्ट करके बैटरी को चार्ज करते है.

अगर मैं आपको सरल भाषा में बताओ तो ractifier का काम सिर्फ AC बिजली को DC में कन्वर्ट करके बैटरी को चार्ज करना.

2. Static Bypass

Static bypass को static switch या transfer switch के नाम से जाना जाता है. अगर कभी system में fault या overload होती है तो यह अपने आप load को मुख्य सप्लाई से जुड़ देती है.

3. Battery

बैटरी UPS की एक मुख्य पार्ट है, इस बैटरी में पॉवर स्टोर होती है. जब UPS को बिजली के साथ जुड़के on किया जाता है तब बैटरी ractifier की मदद से चार्ज होती है, और जब बिजली चल जाती है तब बैटरी से पॉवर सप्लाई होती है.

4. Inverter

Inverter का मुख्य काम होता है DC पॉवर को AC में कन्वर्ट करना. जैसे ractifier AC current को DC में कन्वर्ट करते है ऐसा ही inverter DC current को AC में कन्वर्ट करके कंप्यूटर में सप्लाई करते है.


Types of UPS – UPS Ka Full Form

UPS मुख्य रूप में तीन प्रकार का होती है. पहला है Standby UPS, दूसरा है Online UPS, और तीसरा है Line Interactive.

अब चलिए इन तीनों प्रकार UPS के बारे में जानते है डिटेल्स में…

1. Standby UPS

Standby UPS को ऑफलाइन UPS भी कहा जाता है, इस प्रकार की UPS को आमतौर पर PC के लिए इस्तेमाल किया जाता है.

इस UPS में एक बैटरी, एक AC या DC और DC या AC inverter, एक static switch और एक LPF शामिल है. इसका उपयोग o/p वोल्टेज और surge suppressor से switching frequency को कम करने के लिए किया जाता है.

Standby UPS system स्विच व्यवस्था के साथ काम करता है प्राथमिक पॉवर सोर्स के रूप में AC i/p का चयन करने के लिए, और प्राथमिक पॉवर के मामले में बैकअप sources के रूप में बैटरी और inverter के लिए interchanging बाधित हो जाता है.

इस प्रकार की UPS बहुत छोटा आकार की होती है, इसको बनाने में ज्यादा खर्च नहीं होते और इस UPS को बनाना बहुत आसान होता है अन्य प्रकार UPS की तुलना में.

2. Online UPS

Online UPS को online double conversion निर्बाध बिजली आपूर्ति भी कहा जाता है.

यह सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाने वाला UPS है, इस यूपीएस की डिजाइनिंग standby UPS के समान है.

इस UPS की डिज़ाइन में i/p AC के नुकसान से ट्रांसफर स्विच का ट्रिगर नहीं होता है, क्योंकि i/p AC बैकअप बैटरी source को चार्ज करता है जो कि o/p  इन्वर्टर की पॉवर save होता है.

इस प्रकार की UPS में input AC के विफल होने से transfer switch सक्रिय नहीं होता है क्योंकि यहां पर input AC मुख्य source नहीं है, यह एक backup source है.

Online UPS system ट्रान्सफर टाइम exhibit करती है, लेकिन यह अलग अलग परिस्थिति में जो की standby UPS से बहुत ज्यादा अलग है.

3. Line Interactive

Line Interactive UPS को छोटे व्यवसाय के लिए उपयोग किया जाने वाला सबसे आम UPS है.

इस UPS का डिजाइनिंग एक standby UPS के समान है, यह i/p वोल्टेज भिन्न होने पर ट्रांसफार्मर के नल को विनियमित करके वोल्टेज की नियमन को बढ़ाता है.

कम वोल्टेज की स्थिति होने पर वोल्टेज विनियमन एक महत्वपूर्ण विशेषता है, इस UPS की विशेषताएं छोटे आकार का होता है और इस प्रकार की UPS को 0.5-5kVA पॉवर तक की बनाया जा सकता हैं.

Line interactive UPS की input पॉवर जब विफल हो जाता है तब transfer switch खुल जाता है और पॉवर बैटरी से UPS output की flow होने लगता है.


UPS Ka Fayde – UPS Ka Full Form

UPS का सबसे मुख्य फायदे यह है की कंप्यूटर में काम करने की टाइम अचानक से जब बिजली चल जाते है तब कंप्यूटर में जितने भी program चल रही है वो सब ठीक से save किया जाता है.

UPS आपका कंप्यूटर को बिजली से होने वाले नुकसान से सुरक्षा करती है, जैसे की बिजली की high voltage या बिजली की लाइन में fault होना आदि.

अगर आपका इलाका में ज्यादा समय के लिए बिजली चल जाते है तो UPS की मदद से आपका घर की लाइट जलाने के साथ साथ आपका मोबाइल भी चार्ज कर सकते है.

UPS इस्तेमाल करने में कंप्यूटर की बिना save हुआ data loss होने की डर दूर हो जाता है क्योंकि बिजली चल जाने के बाद UPS हमारे data को save करने के लिए या हमारे काम को पूरा करने के लिए पॉवर प्रदान करता है.


तो दोस्तों मैंने आपको बताया है की UPS Kya Hai और UPS Ka Full Form Kya Hota Hai जो आपको जानना बहुत ही जरुरी था.

इस पोस्ट आपको कैसे लगा जरुर मुझे कमेंट करके बताइए, अगर इस पोस्ट के बारे में आपका कई भी सुझाब है तो भी मुझे बता सकते है.

मुझे उम्मीद है आप इस पोस्ट पढ़के समझ गया है की UPS Ka Full Form क्या होता है.

इस पोस्ट को Social Media जैसे Facebook, Twitter और WhatsApp के माध्यम से आपका दोस्तों के साथ Share करें.

आजके लिए इतना ही, मिलते है नई एक पोस्ट के साथ.

आपका दिन शुभ हो!     धन्यवाद!   

Share this post

4 thoughts on “UPS Ka Full Form Kya Hai – In Hindi”

  1. बढ़िया लेख! इस तरह के सहायक पोस्टों को खोजना मुश्किल है। ऐसे महान उदाहरण हमें बॉक्स के बाहर सोचने और नई चीजों का पता लगाने के लिए प्रेरित करते हैं। मैं इनमें से अधिकांश सामग्री विपणन रणनीतियों का अभ्यास कर रहा हूं, लेकिन अब मुझे लगता है कि अधिक विकल्पों का पता लगाने का समय आ गया है। साझा करने के लिए धन्यवाद!

    Reply

Leave a Comment